HomeAdministrationस्कूलों में लैब की अच्छी सुविधा होनी चाहिए, जहां कमी है उसका...

स्कूलों में लैब की अच्छी सुविधा होनी चाहिए, जहां कमी है उसका प्रस्ताव बनाकर दें- कलेक्टर मीणा

कलेक्टर ने स्वास्थ्य, शिक्षा और बुनियादी सुविधाओं से जुड़े विभागों की समीक्षा 
हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर की प्रापर मानिटरिंग करने के दिए निर्देश
जहां अतिरिक्त कक्ष एवं मरम्मत की जरूरत है, ऐसे सभी स्कूल भवनों का मंगाया प्रस्ताव

दुर्ग. कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने शुक्रवार को जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। जहां उन्होंने कहा कि हेल्थ की तरह ही अन्य विभागों में भी बुनियादी सुविधाओं के लिए काफी काम किया गया है। इसकी लगातार मानिटरिंग जरूरी है। ताकि लोगों को इसका फायदा मिल सके।

कलेक्टर ने कहा हमारा हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर शानदार है। शासन द्वारा समय समय पर इसे बेहतर करने निरंतर सहायता दी जाती है। हमर लैब के माध्यम से टेस्ट फ्री हो गये हैं। हमारा जिला अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्र अपडेट हो रहे हैं और यहां बुनियादी सुविधाओं में शानदार इजाफा हुआ है। मोबाइल मेडिकल यूनिट के माध्यम से लोगों तक स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाई जा रही हैं। यह प्रक्रिया सुचारू रूप से चलती रहे,इसिलए इसकी लगातार मानिटरिंग जरूरी है।

डेंगू जैसी बीमारियों के लिए रहें अलर्ट

इसी तरह की मानिटरिंग वहां भी करने की जरूरत है। कलेक्टर ने इस मौके पर कहा कि जिला अस्पताल में और पाटन में हमर लैब के माध्यम से निःशुल्क जांच किये जा रहे हैं। इन जांच का लाभ यह है कि आरंभिक रूप से बीमारी के डायग्नोज में सहायता मिलती है जिससे बीमारियों को आरंभिक रूप से ही उपचारित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अन्य बीमारियों के चिन्हांकन के लिए भी लगातार सर्वे करते रहें। डेंगू जैसी बीमारियों के लिए पूरी तरह अलर्ट रहें। बैठक में जिला पंचायत सीईओ अश्विनी देवांगन सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

स्कूलों में जरूरी सुविधाएं सुनिश्चित करें

कलेक्टर ने कहा कि स्कूल में लैब आदि की अच्छी सुविधा होनी चाहिए। साथ ही स्कूल में बुनियादी अधोसंरचना से संबंधी सभी काम पूरे होने चाहिए। जहां अतिरिक्त कक्ष की जरूरत है वहां प्रस्ताव भेजें। शासन ने जीर्णाेद्धार के लिए फंड दिया है। यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि कोई भी स्कूल ऐसा नहीं रह जाए जहां रिनोवेशन की जरूरत हो, लेकिन इसका प्रस्ताव नहीं गया हो।

 

सड़कों की मरम्मत के कार्य की मानिटरिंग करते रहें

बारिश के कारण जो सड़कें खराब हुई हैं उनके मरम्मत का कार्य शीघ्रता से पूरा कर लें। इसके साथ ही अधोसंरचना से संबंधित निर्माण कार्य भी समय सीमा पर पूरा कर लें। निर्माण कार्य के वक्त इस बात का ध्यान रहे कि पाइप लाइन आदि को क्षति न पहुंचे। इसके लिए निर्माण एजेंसियों के साथ बैठक लेकर यह सुनिश्चित करा लें।

यह भी पढ़ें:बच्चों ने कलेक्टर को बताई अपनी पंसद का खेल,कहा सबसे बढ़िया है गिल्ली-डंडा

गंगरेल के रिजॉर्ट में भाजपा के कोर ग्रुप की बैठक, बदले जा सकते हैं 22 जिलाें के अध्यक्ष

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!