Homeनिकायशिक्षक दिवस पर मुख्यमंत्री के तीन बड़े निर्णय:स्कूलों में छत्तीसगढ़ी बोली, संस्कृत...

शिक्षक दिवस पर मुख्यमंत्री के तीन बड़े निर्णय:स्कूलों में छत्तीसगढ़ी बोली, संस्कृत और कम्प्यूटर शिक्षा अनिवार्य

  • सप्ताह में एक दिन स्कूलों में छत्तीसगढ़ी बोली को रहेगा समर्पित
  • स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में संस्कृत और कंप्यूटर शिक्षा की होगी पढ़ाई
  • नया रायपुर में विश्व स्तरीय आवासीय शिक्षण संस्थान का किया वर्चुअल शिलान्यास

रायपुर.मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शिक्षक दिवस पर छत्तीसगढ़ के छात्र छात्राओं के हित में बड़े फैसले लिए हैं। राज्य में छत्तीसगढ़ी भाषा को बढ़ावा देने के लिए सभी स्कूलों में अब सप्ताह में एक दिन छत्तीसगढ़ी और आदिवासी बोली की शिक्षा दी जाएगी। इसके लिए शैक्षणिक सामग्री भी तैयार की जा रही है।

बस्तर एवं सरगुजा क्षेत्रों में वहां की स्थानीय आदिवासी बोलियों के अनुसार एवं शेष क्षेत्रों में छत्तीसगढ़ी भाषा में पाठ्य सामग्री तैयार की जा रही है। सप्ताह में एक दिन छत्तीसगढ़ी भाषा में पढ़ाई से स्थानीय भाषा को बढ़ावा मिलेगा और छात्रों में पढ़ाई के प्रति लगाव उत्पन्न होगा

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने एक और बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि भारत की संस्कृति एवं परंपरा को बढ़ावा देने के लिए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में संस्कृत विषय की भी पढ़ाई होगी

इसके साथ ही स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में कंप्यूटर शिक्षा को भी मुख्यमंत्री ने अनिवार्य करने की बात कही है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने महात्मा गांधी का जिक्र करते हुए कहा है कि शिक्षा ऐसी होनी चाहिए जो बालक का शारीरिक, मानसिक और बौद्धिक विकास करे और इसी को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए नवाचार को अपना रही है।

मुख्यमंत्री ने नवा रायपुर के सेक्टर 32 में विश्व स्तरीय आवासीय शिक्षण संस्थान का वर्चुअल भूमिपूजन किया। यह संस्थानछत्तीसगढ़ उत्कृष्ट विद्यालय सोसायटी के संचालन में होगी। यहां 6वीं से 12वीं तक कुल 700 छात्र छात्राओं के लिए 20 एकड़ के परिसर में आवासीय विद्यालय विकसितक या जाएगा।

यह भी पढ़ें: ओणम पर्व: पारंपरिक परिधान में नजर आए विधायक देवेन्द्र, साझा की छात्र जीवन के अनछूए पहलू

हाईड्रोलिक तार टूटने से 50 फीट की ऊंचाई से नीचे गिरा झूला, 13 घायल

पुलिस ने डोंगिया तालाब में कराया तैराकी प्रतियोगिता,विजयी प्रतिभागियों को किया पुरस्कृत

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!