HomeदेशCunsult ऐप के माध्यम से 65 विषयों पर सीधे एक्सपर्ट्स से सकते...

Cunsult ऐप के माध्यम से 65 विषयों पर सीधे एक्सपर्ट्स से सकते हैं जानकारी- मंत्री

नई दिल्ली @ news-36. केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सरकार और ब्यूरोक्रेसी पर एक बार फिर बेबाकी से अपनी ब टिप्पणी की है। गडकरी ने कहा कि सरकार में बड़े स्तर पर ईगो (अहंकार) होता है। उन्हें लगता है कि सारी जानकारी मेरे पास ही है, इसलिए लोगों से सलाह मशविरा नहीं करते। अच्छे आदमी को निंदा करने वाले व्यक्ति को हमेशा साथ रखना चाहिए।

समस्या है कि निर्णय नहीं लेते
गडकरी ने आगे कहा कि समय पर फैसले नहीं लिए जाने की वजह से सरकारी प्रोजेक्ट में देरी होती है। उन्होंने कहा कि निर्णय क्या करते हैं, यह समस्या नहीं है, समस्या यह है कि निर्णय नहीं करते। जॉइंट सेक्रेटरी की गलती को सेक्रेटरी संभालता है, सेक्रेटरी की गलती को मंत्री। लेकिन मैं पारदर्शी हूं, जिम्मेदारी तय करने में विश्वास करता हूं।

अधिग्रहण कोई मुददा नहीं 
जमीन अधिग्रहण के मुद्दे पर विरोध प्रदर्शन ना होने का कारण पूछे जाने पर गडकरी ने कहा कि तमाम नेशनल हाई-वे, एक्सप्रेस-वे के जारी प्रोजेक्ट के बावजूद कहीं भी जमीन अधिग्रहण के मुद्दे पर विरोध-प्रदर्शन नहीं होते। उन्होंने कहा, ‘अब जमीन अधिग्रहण के लिए अधिक पैसे दिए जाते हैं। इस वजह से लोग अब यह कहने नहीं आते कि मेरी जमीन मत लो। लोग अब यह कहने आते हैं कि मेरी जमीन भी लो।’

एक्सप्रेस वे पर 12000 प्लांट
राजस्थान से इस एप के माध्यम से ग्रीन कॉरीडोर के बारे में जब केंद्रीय मंत्री गडकरी से पूछा गया तो उन्होंने कहा हमने यह तय किया है कि ग्रीन कॉरीडोर बनाने के लिए राज्य सरकार के बदले हम खुद प्लांट लगाएं। हमने द्वारका एक्स्प्रेस वे पर 12000 प्लांट लगाने का फैसला किया है।साथ ही हमने ट्री बैंक भी बनाने का फैसला किया है। हमने ग्रीन कॉरीडोर पर चार करोड़ पेड़ लगाए हैं और इसे जी टैग से भी जोड़ रहे हैं। इससे यह पता चलेगा कि पेड़ कितना बढ़ा, उसका रिकार्ड होगा।

यह भी पढ़ें :पशुपालकों के लिए यह तकनीक मिल का पत्थर साबित होगी

365 से अधिक एक्सपट‌र्स देंगे सलाह                                                                                           केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को Cunsult ऐप लॉन्च किया। इसे पूर्व IAS अफसर राघव चन्द्रा ने बनाया है। इस ऐप पर 65 क्षेत्रों के देश के 380 एक्सपर्ट्स जुड़े हैं। नीति आयोग के CEO अमिताभ कांत भी कार्यक्रम में मौजूद थे। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में नीति आयोग भी इस ऐप की मदद लेगा। इस ऐप पर हर मुद्दे से जुड़े एक्सपर्ट मिलेंगे।एप के माध्यम से स्वास्थ्य, सुरक्षा, कृषि, पर्यावरण, विदेश मामले, कश्मीर मामले, रेलवे, आर्थिक, महिला सशक्तिकरण, धर्म-अध्यात्म समेत 65 विषयों पर जानकारी सीधे एक्सपर्ट्स से ली जा सकती है। बात करने पर शुरू के 1 मिनट फ्री होंगे और उसके बाद कुछ चार्ज देना पड़ेगा जो एक्सपर्ट्स के खाते में जाएगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular