Homeदेशचीफ जस्टिस यूयू ललित का आज अंतिम कार्य दिवस,सुनाएंगे छह अहम मामलों...

चीफ जस्टिस यूयू ललित का आज अंतिम कार्य दिवस,सुनाएंगे छह अहम मामलों में फैसला

  • सेरेमोनियल पीठ की कार्यवाही का सीधा प्रसारण किया जाएगा
  • मुख्य न्यायाधीश अपने उत्तराधिकारी के साथ पीठ साझा करेंगे
  • चीफ जस्टिस यूयू ललित देश के 49वें प्रधान न्यायाधीश 

भारत के प्रधान न्यायाधीश जस्टिस यूयू ललित वैसे तो 8 नवंबर मंगलवार को सेवानिवृत्त होंगे, लेकिन 8 नंवबर को गुरु नानक जयंती होने के कारण अदालत में अवकाश रहेगा। ऐसे में चीफ जस्टिस ललित का सुप्रीम कोर्ट में 7 नंवबर सोमवार को आखिरी कार्य दिवस होगा। उनके आखिरी कार्य दिवस पर सुप्रीम कोर्ट की ओर से सीजेआई की अध्यक्षता वाली औपचारिक सेरेमोनियल पीठ की कार्यवाही का सीधा प्रसारण किया जाएगा।

दोपहर 2 बजे से कार्यवाही

दोपहर दो बजे के बाद सेरेमोनियल बेंच की कार्यवाही शुरू होगी। इसमें जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और जस्टिस बेला एम त्रिवेदी शामिल होंगे। बता दें, सेरेमोनियल बेंच में भारत के मुख्य न्यायाधीश अपने उत्तराधिकारी के साथ पीठ साझा करते हैं। इस दौरान बार के अन्य सदस्य व अन्य अधिकारी उन्हें विदाई देते हैं।

ईडब्ल्यूएस को 10 फीसदी आरक्षण समेत छह मामलों में सुनवाई
अपने अंतिम कार्य दिवस में जस्टिस यूयू ललित छह अहम मामलों पर फैसला सुनाएंगे। इसमें सबसे बड़ा मामला सामान्य वर्ग के आर्थिक गरीब (EWS) को 10 फीसदी आरक्षण का है। इस आरक्षण की संवैधानिक वैधता को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है। वहीं दूसरा मामला आम्रपाली आवासीय योजना से जुड़ा है। इसमें आवंटियों को फ्लैट दिलवाने या उसके बदले पैसे दिलवाने पर सुप्रीम कोर्ट बड़ा फैसला सुनाने वाला है। वहीं अन्य चार मामले सामान्य हैं।

यह भी पढ़ें: सांसद राहुल गांधी की नेतृत्व वाली भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए विधायक देवेन्द्र

चार शहरों में बनेगा नए स्केटिंग ग्राउण्ड-स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. टेकाम

27 अगस्त को ली थी CJI के रूप में शपथ
जस्टिस यूयू ललित ने देश के 49वें प्रधान न्यायाधीश के रूप में 27 अगस्त को शपथ ली थी। उनका कार्यकाल 74 दिन का रहा। जस्टिस यूयू ललित का परिवार पीढ़ियों से न्यायिक प्रक्रिया से जुड़ा रहा है। जस्टिस ललित के दादा रंगनाथ ललित आजादी से पहले सोलापुर में एक वकील थे। जस्टिस यूयू ललित के 90 वर्षीय पिता उमेश रंगनाथ ललित भी एक पेशेवर वकील रह चुके हैं। बाद में उन्होंने उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में कार्य किया। इसके अलावा जस्टिस ललित के दो बेटे हर्षद और श्रेयश, जिन्होंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। हालांकि, बाद में श्रेयश ललित ने भी कानून की ओर रुख किया। उनकी पत्नी रवीना भी वकील हैं।

यह भी पढ़ें: कार्तिक पूर्णिमा पर पूर्ण चंद्रग्रहण, 9 घंटा पहले शुरू हो जाएगा सूतक काल

मिथुन और पलक मुच्छल ने सात फेरे लेकर सुर्खियों पर लगाया विराम

राशिफल: इन जातकों को धन संपत्ति, विवाह, करियर के मामले में शुभ फल मिलने वाले हैं

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!