Homeधर्म-समाजरोड किनारे संचालित शराब दुकान के विरोध में निकाली मशाल यात्रा

रोड किनारे संचालित शराब दुकान के विरोध में निकाली मशाल यात्रा

भिलाई. युवा शक्ति संगठन ने घड़ी चौक सुपेला से डॉ राजेन्द्र प्रसाद कोहका पहुंच मार्ग के किनारे संचालित शराब दुकान को हटाने की मांग को लेकर शनिवार को मशाल यात्रा निकाली। रोड पर भ्रमण करते हुए डॉ राजेन्द्र प्रसाद चौक ए लक्ष्मी मार्केट, कोहका रोड, इंदिरा चौक, सुपेला मार्केट के रहवासी और दुकानदारों से रोड के किनारे से शराब दुकान को हटवाने के लिए समर्थन मांगा। व्यापारी और स्थानीय निवासी रैली में शामिल होकर संगठन की मांग का समर्थन किया।

पिछले सप्ताह शराब दुकान हटाने 4000 लोगों ने हस्ताक्षर किया था। जिसमें लोगों ने स्वयं आगे होकर पंडाल में आकर हस्ताक्षर कर शराब दुकान हटाने की मांग की थी। विदित हो कि युवा शक्ति संगठन द्वारा पहले भी कलेक्टर को ज्ञापन दिया गया था और शराब दुकानें हटाने की मांग की गई थी मगर प्रशासन ने अभी तक कोई भी पहल नहीं की। युवा शक्ति संगठन के कार्यकर्ताओं ने देशी अंग्रेजी दोनों शराब दुकान को हटाकर किसी अन्य जगह में स्थापित किया जाए।

सुपेला चौक से कोहका चौक जाने वाला सबसे व्यस्तम मार्ग है। यह सड़क मुख्य मार्ग होने के कारण कोहका स्मृति नगर शांति नगर वैशाली नगर के हजारों लोगों को आवागमन निरंतर इस मार्ग से होता है। इसके अलावा मेडिकल, इंजीनियरिंग कॉलेज, हॉस्पिटल होने कारण आए दिन निरंतर दुर्घटना होती रहती है।स्कूल के छोटे-छोटे बच्चे इसी रोड से आवागमन करते हैं। जिससे हमेशा अप्रिय स्थिति बनी रहती है।

मशाल जुलुस में मदन सेन,पारस जंघेल, शंकर लाल देवांगन,रमेश श्रीवास्तव, धनेश्वरी साहू, शारदा गुप्ता, महेश वर्मा, प्रवीण पांडे ,रामअवतार जंघेल, पार्षद राजेंद्र कुमार, अमोल दास साहू, जुनैद खान, पिंकू तिवारी, सुनील कुमार, शर्मा नीशु पांडे वीरेंद्र कुमार विजय साहू पारो वर्मा मंडावी बलराम ठाकुर रिंकू तिवारी विजय सिंह नवीन सिंह अमिताभ इंद्रजीत सिंह सुनील गुप्ता सुनील शर्मा करण बंजारे राधा यादव बिलकिस बानो मनोज गुप्ता राजेश सिंह बाबूलाल साहू रामकिशन देवांगन सौरभ गुप्ता रोशन सिंह टिंकू अभय तिवारी संत राम मणि वर्मा जितेंद्र उत्पल अशोक विपिन पाल सहित प्रमुख कार्यकर्ता उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: अंतरराज्यीय गिरोह दुर्ग में गिरफ्तार,रायपुर, बिलासपुर के आधा दर्जन ज्वेलरी दुकानों में कर चुके हैं लाखों की ठगी

छत्तीसगढ़ की संस्कृति के गौरव को बढ़ावा देने की दिशा में मुख्यमंत्री का एक और महत्वपूर्ण निर्णय

Agnipath Scheme को लेकर जारी बवाल के बीच सरकार का बड़ा ऐलान, 4 साल की अवधि पूरा करने वालों को CAPFs की भर्ती में विशेष छूट

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!