HomeAdministrationपटवारी के रिश्वतखोरी का वीडियो आया सामने, इन्द्रा मोनेचा निलंबित

पटवारी के रिश्वतखोरी का वीडियो आया सामने, इन्द्रा मोनेचा निलंबित

  • हाल ही में पटवारी हल्का 50 से पटवारी हल्का कुरुद में हुआ है ट्रांसफर 
  • दो दिन पहले हुई बैठक में उनके ज्वाइनिंग का मामला बना था चर्चा का विषय

दुर्ग. रिश्वत मांगे जाने के आरोप में कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने बड़ी कार्रवाई की है। रिश्वतखोरी के मामले को गंभीरता को देखते हुए कलेक्टर ने दोषी पटवारी पटवारी इंन्द्रा मोनेचा के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

शिकायतकर्ता ने पटवारी इंन्द्रा मोनेचा के खिलाफ कलेक्टर से रिश्वत खोरी के मामले में लिखित शिकायत की थी। साथ में कलेक्टर को रिश्वत मांगे जाने का आडियो व वीडियो क्लीप भी उपलब्ध कराया था। मामले की जांच कर कार्रवाई की मांग की थी। कलेक्टर ने मामले को गंभीरता से लिया और आरोप प्रथम दृष्टया सत्य प्रतीत होने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

बता दें कि पटवारी इंन्द्रा मोनेचा के स्थानांतरण का मामला राजस्व विभाग के अधिकारियों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। बताया जा रहा है कि तीन माह पहले उनका अछोटी में स्थानांतरण हुआ था, लेकिन उन्होंने वहां ज्वाइन नहीं किया और पटवारी हल्का बोरई में पदस्थ रही है। इसके बाद उनका पटवारी हल्का कुरुद में स्थानांतरण आदेश जारी हुआ है, लेकिन उन्हें ज्वाइनिंग नहीं दी गई। यही मामला दो दिन हुई समय सीमा की बैठक में जिला प्रशासन के अधिकारियों के बीच चर्चा का विषय बना था।

कलेक्टर ने दी चेतावनी

कलेक्टर मीणा ने अधिकारियों एवं कर्मचारियों को अपने कार्य को कर्तव्य एवं निष्ठा पूर्वक करने की चेतावनी दी है।उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि शासकीय कर्मचारी व प्रशासनिक अमला लाेगों की सेवा के लिए है, इसलिए प्रत्येक शासकीय अधिकारी एवं कर्मचारी का कर्तव्य है कि वह आम नागरिकों को यह सेवा बिना किसी बाधा के मुहैया कराएं और नागरिकों के अधिकारों का संरक्षण करे। किसी भी प्रकार की शिकायत मिलने पर उनके खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई की जाएंगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!