Homeलाइफ स्टाइलमहिलाएं कुछ आसान उपाय कर अपने दिल-दिमाग और शरीर को स्वस्थ को...

महिलाएं कुछ आसान उपाय कर अपने दिल-दिमाग और शरीर को स्वस्थ को रख सकती हैं फिट

भागमभाग भरी जीवन शैली में महिलाओं के लिए घर के साथ बाहर जाकर काम करना आसान नहीं है। भाग दौड़ के चक्कर में महिलाएं अपने परिवारजनों का ध्यान तो रख लेती हैं, परन्तु स्वयं के लिए समय नहीं निकाल पाती हैं। वह भाग दौड़ के चक्कर में अपने शरीर, दिल और दिमाग का ध्यान रखना ही भूल जाती हैं। जिसके कारण ऐसी बहुत सी समस्याएं बहुत कम उम्र होने लगती है जिन पर महिलायें ध्यान नहीं देती। बाद में यही छोटी-छोटी समस्याएं बीमारी का रूप धारण कर लेती हैं।

हमने महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़ी जीवन शैली में कुछ बदलाव के लिए आसान हेल्थ टिप्स लेकर आए हैं। जिससे महिलाएं अपने दिल दिमाग और शरीर को स्वस्थ रख सकती है

 

हेल्दी डाइट फॉलो करें
हेल्दी डाइट सभी के लिए जरूरी है। खानपान से ही शरीर को ऊर्जा मिलती है। इसलिए खानपान जरूर ध्यान दें। आप हृदय रोग, अन्य समस्याओं को दूर रखना चाहते हैं तो यह डाइट फॉलो कर सकते हैं।

  •  फल और हरी सब्जियां ज्यादा से ज्यादा खाएं
  • साबुत अनाज चुनें। मिक्स दाल पकाएं।
  • सफेद की जगह ब्राउन राइस ट्राई करें।
  • मैदा से बनी चीजों का परहेज करें। गेहूं से बने खाद्य पदार्थ उपयोग करें।
  • चिकन, मछली, सेम, और फलियां जैसे प्रोटीन लें।
  • अत्यधिक प्रोसेस्ड फ़ूड, चीनी, नमक, और सैचुरेटेड फैट में कटौती करें।

 

और पढ़ें..बिकिनी पहनकर समंदर में किलर पोज देते नजर आईं एक्ट्रेस,जिन्हें फैंस कर रहे खूब पसंद

 

अपने लिए 15 मिनट का समय निकालें
नित्य व्यायाम हमारे दिल को हेल्दी बनता है। इसके लिए आप 15 मिनट का समय निकालें और नियमित व्यायाम एवं प्राणायाम करें। इससे मांसपेशियों और हड्डियों की शक्ति बढ़ाता है। कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करता है। व्यायाम के लिए कुछ आसान तरीके अपना सकते हैं …

  • सप्ताह में 2 से 4 घंटे की मध्यम गतिविधि, जैसे तेज चलना या नृत्य अवश्य करें।
  • आप सप्ताह में 1 घंटा 15 मिनट दौड़ने या टेनिस खेलने जैसी क्रियाएं भी कर सकते हैं।
  • यदि आप ऑफिस के कार्यों में व्यस्त रहते हैं, तो पूरे दिन छोटी-छोटी गतिविधियाँ करने की कोशिश करें।
  • जितना हो सके चलें, एक दिन में कम से कम 10,000 कदम चलने का लक्ष्य बनाएं।
  • लिफ्ट की जगह सीढ़ीयों का प्रयोग करें। अपनी कार को अपने गंतव्य से दूर पार्क करें।

वजन पर ध्यान दें 

  • यदि स्वस्थ्य रहना है तो आपको अपने वजन पर नियंत्रित रखने की आवश्यकता है। पौष्टिक भोजन से आप हृदय रोग, टाइप 2 डायबिटीज और कैंसर का खतरा कम हो जाता है।
  • इसके लिए आप धीरे धीरे अपना वजन कम (सप्ताह में 1-2 पाउंड) करें- सक्रिय रहें और अच्छी डाइट लें।
  • वजन कम करने के लिए व्यायाम करना अत्यंत आवश्यक है। यदि आप बहुत अधिक वजन कम करना चाहते हैं, तो सप्ताह में 300 मिनट व्यायाम करने का प्रयास करें।
  • स्वस्थ आहार खाने से आप जल्दी ही अपना वजन कम कर सकते हैं। अपने डाइट से शुगर को कम करें, सोडा और चीनी युक्त कॉफी पेय से भी बचने की कोशिश करें।
  • बहुत अधिक अवशोषित कैल्शियम गुर्दे की पथरी के खतरे को बढ़ा सकता है और यहां तक ​​कि हृदय रोग के जोखिम को भी बढ़ा सकता है। यदि आप 50 वर्ष से कम उम्र के हैं, तो प्रति दिन 1,000 मिलीग्राम से अधिक कैल्शियम न लें, जबकि 50 से अधिक आयु की महिलाओं को प्रति दिन 1,200 मिलीग्राम कैल्शियम लेना चाहिए।

नियमित हेल्थ चेकअप कराएं

  • समय समय पर अपने हीमोग्लोबिन, शुगर और यूरीन की जांच करवाते रहें। आपके मेडिकल हिस्ट्री की मदद से आपको स्वस्थ रहने में मदद कर सकता है।
  • माहवारी एवं स्वास्थ्य से सम्बंधित समस्या को नजर अंदाज न करें। समस्याओं को लेकर अपने डॉक्टर से बात करते रहें। “यदि आपके कोई प्रश्न हैं, तो अपने डॉक्टर से जरूर पूछें”।
  • स्तन कैंसर, ओवेरियन कैंसर और पुरानी बीमारियों के पारिवारिक इतिहास वाले अपने डॉक्टर से बात करें।
  • यदि आप किसी दवा या प्रक्रिया के बारे में चिंतित हैं, तो उसके बारे में डॉक्टर से चर्चा करें। छुपाएं नहीं।
  • कार्डियो व अन्य एक्सरसाइज: महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस, हृदय रोग, कैंसर और मधुमेह को रोकने में मदद करने के लिए सप्ताह में कम से कम तीन से पांच बार कार्डियो और वजन उठाने वाली एक्सरसाइज जैसे डंबल उठाना इत्यादि करनी चाहिए।

तनाव कम करें
यदि आप तनाव या स्ट्रेस लेती हैं तो यह आपके स्वास्थ्य पर भारी पड़ सकता है। जितना हो सके महिलाओं को स्ट्रेस नहीं लेना चाहिए। स्ट्रेस या तनाव से बांझपन से लेकर डिप्रेशन, चिंता, और हृदय रोग होने के उच्च जोखिम जुड़े होते हैं। तनाव कम करने के लिए कारणों को जानें। उसे दूर करने का प्रयास करें। यदि आप इसे पूरी तरह से टाल नहीं सकती हैं, तो इसके प्रभाव को कम करने के लिए प्राणायाम करने का प्रयास करें।

जन्म नियंत्रण की सराहना करें। जन्म नियंत्रण को बुरा माना जाता है, लेकिन एक अध्ययन से पता चलता है कि यह न केवल आपके तैयार न होने पर आपको गर्भवती होने से रोक सकता है, बल्कि यह गर्भाशय और ओवेरियन कैंसर के जोखिम को भी कम कर सकता है और साथ ही साथ आपके पीरियड्स को नियंत्रित कर सकता है।

संभोग या सेक्स तनाव को कम करता है और पुरानी बीमारी के खतरे को कम कर सकता है, लेकिन यह केवल तब मुमकिन है अगर आप इसका आनंद लेते हैं। यदि कोई चीज आपको यौन तृप्ति से रोकती है, जैसे कि सूखापन या दर्द, तो अपने डॉक्टर से बात करें।

भरपूर नींद लें।आयु के साथ साथ नींद की ज़रूरतें अलग-अलग होती हैं, लेकिन अगर आपको बिस्तर से बाहर निकलने में परेशानी होती है, आसानी से थक जाते हैं, या ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होती है, तो अवश्य ही आप पर्याप्त रूप से नींद नहीं ले रहें हैं। हाल के अध्ययनों से पता चलता है कि यह आपको हृदय रोग और मनोवैज्ञानिक समस्याओं के जोखिम में डाल सकता है।

 

और पढ़ें..थायरायड का ज्यादा या कम होना,स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!