Homeधर्म-समाजरंग बिरंगी डोरियों से कांवड़ सजाने में जुटी महिलाएं, जय हनुमान सेवा...

रंग बिरंगी डोरियों से कांवड़ सजाने में जुटी महिलाएं, जय हनुमान सेवा वाहिनी की कांवड़ यात्रा 1 को

भिलाई.जय हनुमान सेवा वाहिनी 1 अगस्त को निकलने वाली कांवड़ यात्रा की तैयारी में जुटी हुई है। रंग बिरंगी रेशमी डोरी से कांवड़ सजा रही है। 1 अगस्त को शिवनाथ नदी से लेकर प्राचीन शिव मंदिर देव बलौदा यात्रा कर भगवान भोलेनाथ को अभिषेक करेंगी।

सेक्टर 10 माड़ी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने बताया कि बताया कि उनकी पूरी टीम की महिलाएं कावड़ बनाने में लगी हुई है। कावड़ के दोनों ओर रस्सी बांध कर मिट्टी और तांबा व पितल का कलश रख कर और उसमें पानी भर कर चलकर टेस्टिंग भी कर रही है कि कावड़ ठीक बना है या नहीं। महिलाओं ने बताया कि वे सब पहली बार कावड़ बना रही है। लेकिन उन्होंने कई बार कावड़ देखा है। इसलिए उन्हें पता है कि कावड़ कैसे बनाया जाता है। कुछ टेक्नीकल समस्या आ रही थी। जिसे दूर करने केलिए यूट्यूब और गूगल की भी मदद ली जा रही है। कावड़ के साथ ही कलश को भी बहुत ही सुंदर और मनमोहक तरीके से सजाया जा रहा है।

महिलाओं में कावड़ यात्रा को लेकर बेहतर उत्साह का माहौल है। सिर्फ सेक्टर 10 ही नहीं बल्की सेक्टर 5 की जय मां दुर्गा स्वयं सहायता समूह, छावनी की मां प्राप्ति स्वयं सहायता समूह, लक्ष्य स्वयं सहायता समूह शहीद वीर नारायण सिंह, शिवशक्ति महिला समूह खुर्सीपार आदि समिति की महिलाएं अपने -अपने यहां कावड़ बनाने और उसे सजाने में जूटी है। कावड़ यात्रा की शुरूआत होने से पहले ही इसकी तैयारी में ही पूरा शहर शिवमय हो गया है। भक्तों में काफी उत्साह का माहौल और कावड़ यात्रा के दिन की बेसब्री से इंतजार है।

यह भी पढ़ें: कावड़ यात्रा:जय हनुमान सेवा वाहिनी, शिवनाथ के जल से प्राचीन देव बलौदा मंदिर में करेंगे भोलनाथ का महाभिषेक

महिलाएं भी होगी शामिल

ऐसे तो महिलाएं भी कावड़ यात्रा में शामिल होती है, लेकिन भिलाई से पहली बार बड़ी संख्या में महिलाएं कावड़ यात्रा में शामिल होगी। इस कावड़ यात्रा में हर वार्ड की महिलाएं शामिल होंगी और करीब 400 से अधिक महिलाएं कांवड़ लेकर शिवनाथ से प्राचीन शिव मंदिर तक यात्रा करेंगी।

सुबह 6 बजे निकलेगी कावड़ यात्रा

सेवा वाहिनी के पदाधिकारियों ने बताया कि शिवनाथ नदी से कांवड़ यात्रा सुबह 6 बजे से शुरू होगी। इस आयोजन में सभी धर्म, जाति,समूदाय,राजनीतिक पार्टी से लोग शामिल होंगे। आपसी भाईचारा, एकता, प्रेम, मत्रिता का संदेश देने वाला यह कावड़ यात्रा होगा। जो सिर्फ शिव की भक्ति के लिए होगा। यात्रा की शुरूआत शिवनाथ नदी स्थिति शंकर भगवान की पूजा अर्चना करने के बाद की जाएगी। शिवनाथ से अपने कावड़ में जल भरकर भक्त पैदल -पैदल हर हर महादेव का जयकारा लगाते हुए देवबलोदा मंदिर पहुंचेगी। देव बलौदा के पुरातात्विक शिव मंदिर में वर्षों पुराने शिवलिंग पर जलाभिषेक करेंगे और अपनी यात्रा काे विराम देंगे। इसके बाद यहां भव्य पूजा आरती और महामृत्युंजय जाप किया जाएगा।

यह भी पढ़ें:कॉमनवेल्थ गेम्स का रंगारंग आगाज,बर्मिंघम में भारतीय दल की एंट्री होते ही जोशिले आवाज से गूंज उठा स्टेडियम 

हरेली तिहार पर किसानों को मिली बड़ी सौगात,सीएम ने लांच की कम लागत वाले पशुचलित कृषि उपकरण

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!