Homeस्वास्थ्यपीरियड के दौरान महिलाओं को यह पैड रखेगा एनर्जेटिक, सस्ती दर पर...

पीरियड के दौरान महिलाओं को यह पैड रखेगा एनर्जेटिक, सस्ती दर पर मिलेगा मार्केट में

छत्तीसगढ़ के नगर पालिक निगम भिलाई की महिलाएं खास तरह की सेनेटरी पैड तैयार कर रही हैं, जिसके इस्तेमाल से न केवल संक्रमण से बचाव कारगार साबित होगी, बल्कि उन्हें पीरियड के दौरान इनर्जेटिक भी रखेंगी। निगम के शहरी गौठान में महिलाएं खास तरह के पैड बनाने का काम शुरू किया है। बहुत जल्द यह बिक्री के लिए मार्केट में उपलब्ध हो जाएगा।

निगम आयुक्त प्रकाश सर्वे ने मंगलवार को शहरी गौठान पहुंचकर सेनेटरी निर्माण की जानकारी ली। जहां जगत जननी महिला स्व सहायता समूह की महिलाओं ने पेड की क्वालिटी के बारे में विस्तार से जानकारी दी। समूह की अध्यक्ष अनामिका सिंह ने बताया कि इस पैड की खासियत यह है कि माहवारी के दौरान महिलाओं को यह एनर्जेटिक रखता है। क्योंकि इसमें ओनियन पल्प का इस्तेमाल किया जा रहा है, बहुत सारे सेनेटरी पैड में इसका उपयोग नहीं होता है परंतु गौठान में निर्मित पैड में इसका उपयोग किया जा रहा है। इसके अलावा पैड में जेल सीट का उपयोग किया जा रहा है जबकि आमतौर पर अन्य पैड में यह नहीं होता है।

सस्ती दर में उपलब्ध कराएंगे

अनामिका ने कहा कि मार्केट में यह सस्ती दर पर उपलब्ध होगा। ताकि यह पैड उन महिलाओं तक पहुंचे जो पैड को लेकर ज्यादा खर्च वहन नहीं कर सकती है। महिलाओं ने बताया कि 2015 से समूह कार्य कर रही है। उन्होंने पहले पापड़, अचार, बिजोरी, बड़ी बनाने के कार्य को अपनाया था परंतु 2018 में जबसे निगम में पंजीयन हुआ इन्हें मोटिवेशन मिला और घरेलू सामग्रियों को बनाने की अपेक्षा इन्होंने कुछ अलग करने की ठानी और सेनेटरी पैड बनाने का कॉन्सेप्ट मन में आया।

यह भी पढ़ें :डॉक्टर के रूप में प्रेक्टिस कर रहे चिकित्सक का पंजीयन निरस्त

विश्व तंबाकू निषेध दिवस:नशे से मुक्ति के लिए 25 जिला अस्पतालों में टोबैको सिसेशन सेंटर, पिछले साल 1946 लोगों ने छोड़ा नशा

महापौर पाल ने दिया प्लेटफार्म

महापौर नीरज पाल ने स्व सहायता समूह की महिलाओं को बेहतर प्लेटफार्म देने के लिए गौठान में ऐसी महिलाओं को स्थान दिया है। जो महिलाओं के स्वास्थ्य की दिशा में भी अग्रणी होकर कार्य कर सकती हैं और आर्थिक आय भी अर्जित कर सकती हैं। जगत जननी महिला स्व सहायता समूह सेक्टर 2 में लगभग 14 महिलाएं काम कर रही है। इसमें कोषाध्यक्ष फूलवती भगत और सचिव प्रमिला डडसेना का काफी अहम रोल है। करीब डेढ़ की लाख से मशीन स्थापित किया है।

हाई टेक्नोलॉजी से तैयार हो रहा सेनेटरी पैड

सेनेटरी पैड तैयार करने की बात करें तो यह हर उस प्रोसेस से गुजर रहा है जिसकी जरूरत एक बेहतर पैड को होती है। मेकिंग से लेकर पैकिंग तक महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान रखा जा रहा है। सेनेटरी पैड में वुड पल्प, ओनियन सीट, वावेल सीट, बैक सीट एवं फ्रंट सीट और जेल सीट इस्तेमाल किया जा रहा है। अनामिका ने बताया कि सेनेटरी पैड बनाने के लिए चार प्रोसेस से गुजरना पड़ता है, कटिंग बॉन्डिंग, स्टरलाइजेशन एवं पैकेजिंग इसकी महत्वपूर्ण प्रक्रिया है। उन्होंने बताया कि 10 दिन के भीतर सेनेटरी पैड तैयार हो जाएगा।

निरीक्षण के दौरान जोन आयुक्त मनीष गायकवाड, प्रभारी सहायक अभियंता आलोक पसीने, उप अभियंता गौरव अग्रवाल, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन से फणींद्र बोस, सामाजिक कल्याण विभाग से अजय शुक्ला, महिला स्व सहायता समूह से सुलोचना धनकर, रेखा बघेल मौजूद थे।

यह भी पढ़ें:जनदर्शन में विधायक ने सुनी समस्याएं, 30 में से 20 आवेदनों का मौके पर किया निराकरण

सुको में छत्तीसगढ़ सरकार को झटका, जीपी सिंह के जमानत याचिका की अपील को किया खारिज

पीएम ने जारी किए किसान सम्मान निधि की 11वीं किस्त,अगर नहीं मिले पैसे, तो तुरंत करें ये काम

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!