HomeAdministrationWorkshop:दुर्घटना के समय पीड़ित की जो आपातकालीन मेडिकल में मदद करें, पुलिस...

Workshop:दुर्घटना के समय पीड़ित की जो आपातकालीन मेडिकल में मदद करें, पुलिस उनसे उनके बारे में न पूछें सवाल-एसपी. डॉ. पल्लव

आपातकालीन राहत,चिकित्सा व बचाव कार्य एवं रोड सेफ्टी की कार्यशाला में विशेषज्ञों ने जवानों को बताए घायलों को प्राथमिक उपचार करने के तरीके

दुर्ग.आपातकालीन राहत,चिकित्सा व बचाव कार्य एवं रोड सेफ्टी विषय को लेकर शुक्रवार को सीएनजी स्कूल सेक्टर 4 में पुलिस विभाग की कार्यशाला हुई। जहां पुलिस, यातायात विभाग अधिकारियों ने जवानों को आपातकालीन राहत,यातायात नियमावली और सुरक्षा व्यवस्था जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर विस्तार से जानकारी दी। वहीं विशेषज्ञ चिकित्सकों ने एंबुलेंस के पहुंचने से पहले घायलों किस तरह से प्राथमिक उपचार दिया जा सकता है, उसके बारे में प्रशिक्षण दिया। बीएसपी और एसडीआरएफ के अधिकारियों में आपदा की स्थिति में बचाव कार्य के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों से अवगत कराया।

पुलिस अधीक्षक डॉ अभिषेक पल्लव ने गुड समेरटिन (नेक व्यक्ति) पर चर्चा करते हुए कहा कि वह व्यक्ति, जो दुर्घटना के समय पीड़ित को आपातकालीन मेडिकल व नॉन मेडिकल मदद देता है। उसे पुलिस द्वारा, उसकी इच्छा के बगैर, उसके बारे में कोई जानकारी नहीं ले सकते। इस बात को सभी को विशेष ध्यान रखना चाहिए। ताकि किसी कारण से उसके मन को ठेस न पहुंचे।

आपातकालीन चिकित्सा व्यवस्था पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि किसी भी दुर्घटना,आपातकालीन राहत और रोड सेफ्टी व्यवस्था में सबसे पहले और बड़ी जिम्मेदारी पुलिस की होती है। दुर्घटना की सबसे पहले सूचना पुलिस को मिलती है। सूचना मिलने के तीन मिनट के अंदर पुलिस की डायल 112 या नेशनल हाइवे की टीम घटना स्थल पर पहुंच जाती है। इसके बाद एंबुलेंस पहुंचता है। एबुलेंस के पहुंचने का जो समय होता है। उससे पहले पुलिस को घायल व्यक्ति का प्राथमिक इलाज करने आना चाहिए, ताकि मरीज की जान को बचाया जा सके। एएसपी संजय ध्रुव ने भी आपातकालीन राहत और रोड सेफ्टी के बारे में जानकारी दी।

chhattisgarh

… यकीन मानिए सड़क दुर्घटनाएं नहीं होगी

यातायात विभाग के डीएसपी गुरजीति सिंह ने कार्यशाला के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि लोगों में यातायात नियमाें के प्रति जागरूकता लाकर सड़क दुर्घटनाओं को काफी हद तक रोका जा सकता है। लोगों में यातायात के नियमों की जानकारी नहीं है। इसलिए हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों को यातायात और सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरुक करना होगा। जिस दिन से हर व्यक्ति यातायात के नियमों का पालन करने लगेंगे। यकीन मानिए सड़क दुर्घटनाएं नहीं के बराबर होगी।

उन्होंने सड़क दुघनाएं के आंकड़े शेयर करते हुए बताया कि 2001 में पूरे विश्व में सड़क दुर्घटना में 1350617 लोगों मृत्यु हई थी। इसी वर्ष भारत में सड़क दुर्घटना में 1,56,713 लोगों ने जान गंवा दिए। 2001 में छत्तीसगढ़ में सड़क दुर्घटना से 4606लोगों की मृत्यु हुई थी। इसी साल दुर्ग जिले में सड़क दुर्घटना से 220लोगों की मौत हुई थी। दुर्ग जिले के इन घटनाओं का विश्लेषण किया गया तो ज्यादातर मामले में यातायात की नियमों का पालन नहीं करना और वाहन चालते हुए खुद की सुरक्षा व्यवस्था में लापरवाही निकलकर सामने आई थी। इसलिए दुर्घटना को रोकने के लिए लोगों में यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया जाए। जहां, जानबूझ कर लापरवाही किया जा रहा है। वहां नियमानुसार कार्रवाई किया जाए।

chhattisgarh
जवानों को प्रशिक्षण देते हुए विशेषज्ञ

विशेषज्ञों ने बताया घायलों को प्राथमिक उपचार के तरीके

कार्यशाला में जिला चिकित्सालय के आरएमओ डॉ अखिलेश यादव, डॉ विपिन जैन, सेक्टर 9 हाॅस्पिटल के डॉ जयेश दवे, श्रीशंकराचार्य मेडिकल कॉलेज एवं चिकित्यालय के डॉ राकेश ठक्कर, डॉ अनुराग चंद्राकर ने घायलों को स्ट्रेचर पर लिटाने, हाथ, पैर, सिर में चोट होने वाले खून का बहाव को रोकने के लिए प्राथमिक उपचार के तरीके बताया। विस्तार से प्रशिक्षण दिया। वहीं बीएसपी के जीएम जीपी सिंह, एनडीआरएफ के जिला सेनानी नागेन्द्र सिंह ने आपदा के समय लोगों को सुरक्षा और राहत बचाव कार्य के लिए प्रशिक्षण दिया।

chhattisgarh
पुतला के माध्यम से दुर्घटना में घायल व्यक्ति का प्राथमिक उपचार करने का प्रशिक्षण देते हुए चिकित्सक

यह भी पढ़ें:कानून व्यवस्था की हकीकत जानने एसपी ने पैदल किया फ्लैगमार्च,चौक-चौराहे पर भेंट मुलाकात कर मांगे सुझाव

ED Raid: दुर्ग,राजनांदगांव और रायपुर के सराफा व टेक्सटाईल कारोबारियों के ठिकानों में दबिश दी

सनसनीखेज खुलासा:कब्जा हटाने के लिए नोटिस देने पर युवक ने कर दी सरपंच के पति की हत्या,गिरफ्तार

कॉमनवेल्थ गेम्स:पैरा-पावरलिफ्टिंग में सुधीर ने उठाया “गोल्ड”, लॉन्ग जंप में मुरली ने रचा इतिहास

RELATED ARTICLES

Most Popular

error: Content is protected !!