गंगा दशहरा कल, विशेष उपाय से आर्थिक समस्याओं से पा सकते हैं छुटकारा

2489
Advertisement only

भिलाई @ news-36. सनातन धर्म में गंगा को माता का दर्जा प्राप्त है। किसी भी अन्य नदी से गंगा का महत्व कहीं ज्यादा है। गंगा पतित पावनी है। उसमें स्नान कर लेने मात्र से सारे पाप नष्ट हो जाते हैं। यही वजह है कि गंगा सनातन धर्म में महज एक नदी नहीं है बल्कि करोड़ों लोगों की भावना है। तो आइए जानते हैं आचार्य अश्वनी तिवारी के अनुसार गंगा दशहरा के दिन अपने आर्थिक समस्याओं से छुटकारा पाने के प्रमुख उपाय….

आचार्य अश्वनी तिवारी बताते हैं कि गंगा दशहरा का पर्व सनातन धर्म में काफी महत्वपूर्ण है। इसी दिन माता गंगा स्वर्ग से धरती पर आई थीं, लेकिन इस बार का गंगा दशहरा का पर्व और भी खास है। इसी दिन बृहस्पति शनि देवता के स्वामित्व वाली राशि कुंभ में वक्री होने जा रहे हैं। वैदिक ज्योतिष में बृहस्पति को एक बेहद ही शुभ ग्रह माना गया है।

19 जून को गंगा दशहरा
प्रत्येक वर्ष हिन्दू पंचांग के अनुसार गंगा दशहरा का पर्व ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। ऐसे में साल 2021 में गंगा दशमी तिथि 19 जून को शनिवार की शाम के 06 बजकर 47 मिनट पर प्रारंभ होगी और 20 जून को रविवार की शाम के 04 बजकर 23 मिनट पर इसका समापन होगा। ऐसे में गंगा दशहरा का पर्व साल 2021 में 20 जून को मनाया जाएगा।

ये उपाय जरूर करें
गंगा दशहरा के दिन गंगा (नदी में)स्नान का विशेष महत्व है। कोरोना महामारी के की वजह से ऐसा कर पाना संभव नहीं है तो आप इस दिन नहाने के पानी में गंगाजल मिलाकर स्नान कर सकते हैं। इसके साथ ही इस पावन दिन पूरे घर में गंगाजल का छिड़काव करें। इस पावन दिन पर भगवान शिव का गंगाजल से अभिषेक करना भी आपके लिए बेहद शुभ साबित होगा। इन सभी उपायों से आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।

नौकरी के लिए
कई कोशिशों के बावजूद नौकरी पाने में असफ ल हो रहे हैं या फिर कारोबार में उतनी तरक्की नहीं हो रही है जिसकी वो उम्मीद कर रहे थे तो इन जातकों को गंगा दशहरा के दिन जल दान करना चाहिए। जल दान करने के लिए एक कलश में उसके कंठ तक पानी भरें और फिर उसमें थोड़ा सा शक्कर मिला कर उसे साफ वस्त्र से ढक दें। इसके बाद उस वस्त्र के ऊपर कुछ दक्षिणा रख कर किसी गरीब या फिर किसी ब्राह्मण को दान में दे दें। इससे आपको अपने जीवन में चल रही परेशानियों से छुटकारा मिल जाएगा।

आर्थिक परेशानी से निपटने के लिए
यदि जीवन में आर्थिक समस्याओं का सामना कर रहे हैं और काफी कोशिशों के बावजूद असफ लता हाथ लग रही है या फिर फिजूल खर्ची से परेशान हैं तो आपको गंगा दशहरा के दिन अनार का पेड़ लगाना चाहिए। हालांकि वास्तु शास्त्र में अनार का पेड़ घर या आंगन में लगाना अशुभ माना गया है इसलिए आप जब भी अनार का पेड़ लगाएं तो उसे घर से दूर लगाएं।

व्यापार के लिए करें ये उपाए
कारोबार चलाने में यदि समस्याओं का सामना करना पद रहा है। ऐसे जातक जो अपना नया कार्य नहीं शुरू कर पा रहे हैं या फिर व्यवसाय से उम्मीद के मुताबिक नतीजे नहीं मिल रहे हैं। उन्हें गंगा दशहरा के दिन एक सादे कागज पर गंगा स्त्रोत लिखकर इस कागज को किसी पीपल के पेड़ के नीचे गाड़ देना चाहिए। सकारात्मक नतीजे मिलने लगेंगे।

Previous articleकृषि विश्वविद्यालय की वेबसाईट पर मिलेगी बीजों एवं पौधों की उपलब्धता की जानकारी
Next articleपढि़ए आज का राशिफल और जानिए क्या कहते हैं आपके सितारे